ⓘ महात्मा गान्धी

भारत माता मन्दिर

भारत माता मन्दिर महात्मा गान्धी काशी विद्यापीठ क प्राङ्गणमे स्थित अछि । एकर निर्माण डाक्टर शिव प्रसाद गुप्ताद्वारा कएल गेल आ उदघाटन सन् १९३६ मे महात्मा गान्धीद्वारा कएल गेल । ई मन्दिरमे कोनो देवी-देवताक कोनो प्रकारक चित्र आ प्रतिमा नै अछि मुदा सङ्गमर्मर पर खाँदल गेल अविभाजित भारतक त्रिआयामी भौगोलिक मानचित्र अछि । ओ मानचित्रमे पर्वत, पठार, नदी आ सागरसभके निकसँ दर्शाएल गेल अछि । ई मन्दिर भारत माताके पुजा करबाक लेल निर्माण कएल गेल अछि आ समुचा दुनियाँमे एकटा मात्र एहन प्रकारक मन्दिर अछि से दाबी कएल गेल अछि ।

हिन्दुस्तान टाइम्स

हिन्दुस्तान टाइम्स एक भारतीय अङ्ग्रेजी भाषाक दैनिक समाचार पत्र छी। जकर उद्घाटन १९२४ मे महात्मा गान्धी द्वारा कएल गेछल ई समाचार पत्र भारतीय स्वतन्त्रता आन्दोलनमे एक राष्ट्रवादी आ काङ्ग्रेस-दैनिकक रूपमे अभिन्न भूमिका निर्वाह केनए छल । ई समाचार पत्र शोभना भरतियाक स्वामित्वमे अछि। आ एकर प्रमुख प्रकाशन एचटी मीडिया छी जे केके बिरला परिवार द्वारा नियन्त्रित एकाई छी।

सत्याग्रह

सत्याग्रह, या सत्य पर पकड़, या सत्य बल, अहिंसात्मक प्रतिरोध या नागरिक प्रतिरोधक एक विशेष रूप छी। जे कियो सत्याग्रह करैत अछि ओ सत्याग्रही होएत अछि। सत्याग्रह शब्द महात्मा गान्धी द्वारा १८६९-१९४८ केँ कालखण्डमे विकसित कएने छल। हुनका द्वरा भारतीय स्वतन्त्रता आन्दोलनमे सत्याग्रहक अग्रसर केलक आ भारतीय अधिकारक लेल दक्षिण अफ्रीकामे अपन पहिनुक सङ्घर्ष समय सेहो एकर कार्यन्वयन केलक आ सत्याग्रह सिद्धान्त द्वारा संयुक्त राज्य अमेरिकामे नागरिक अधिकार आनदोलनक समय मार्टिन लूथर किङ्ग जूनियर आ जेम्स बेवेलक अभियानकेँ प्रभावित केनए छल, साथे दक्षिण अफ्रीकामे रङ्गभेदक बिरोधमे नेल्सन मन्डेलाक सङ्घर्ष आ बहुतो अन् ...

गान्धी जयन्ती

गान्धी जयन्ती भारतमे महात्मा गान्धीक जयन्तीकेँ मनेबाक लेल मनाओल जाइवला एक कार्यक्रम छी। ई २ अक्टूबर कऽ प्रतिवर्ष मनाओल जाएत अछि, आ ई भारतक तीनटा राष्ट्रिय छुट्टिसभमे सँ एक छी। संयुक्त्त राष्ट्र महासभा द्वारा १५ जून २००७ कऽ घोषणा एकर करैत एकटा प्रस्तावकेँ स्वीकार केलक जाहिमे घोषित केलक कि २ अक्टूबर कऽ अन्तराष्ट्रिय अहिंसा दिवसक रूपमे मनाओल जाएत।

गोपाल कृष्ण गोखले

गोपाल कृष्ण गोखले भारत एक स्वतन्त्रता सेनानी, समाजसेवी, विचारक एवम सुधारक छल। महादेव गोविन्द रानाडेक शिष्य गोपाल कृष्ण गोखलेक वित्तीय मामलाक अद्वितीय समझ आ ओही पर अधिकारपूर्वक बहस करैके क्षमतासँ उनका भारतक ग्लेडस्टोन कहल जाइत अछि। ओ भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेसमे सबसँ प्रसिद्ध नरमपन्थी छल। चरित्र निर्माणक आवश्यकतासँ पूर्णत: सहमत भ ओ १९०५ मे सर्वेन्ट्स अफ इण्डिया सोसायटीक स्थापना केलक ताकि नौजवानक सार्वजनिक जीवन के लेल प्रशिक्षित कएल जा सकी। उनकर माननाइ छल कि वैज्ञानिक आ तकनीकी शिक्षा भारतक महत्वपूर्ण आवश्यकता छी। स्व-सरकार व्यक्तिक औसत चारित्रिक दृढता आ व्यक्तिक क्षमता पर निर्भर करैत अछि। महा ...

करमचन्द गान्धी

करमचन्द उत्तमचन्द गाँधी भारत क राष्ट्रपिता महात्मा गांधी क पिता छल। वे पोरबन्दर रियासत मे प्रधानमंत्री, राजस्थानिक कोर्ट के सभासद, राजकोट मे दीवान आर किछ समय तक बीकानेर के दीवान के उच्च पद पर प्रतिष्ठित छल। ओ कबा गाँधी के नाम से सेहो जानल जाएत छल। महात्मा गाँधी क माता पुतलीबाई, करमचंद गाँधी चौथी पत्नी छल। इनकर पिता क नाम उत्तमचन्द गाँधी आर माँ क नाम लक्ष्मी गाँधी छल। ओ दिन कोनो रियासत क दीवानगिरी चैन क नौकरी नै छल। पोरबन्दर पश्चिमी भारत क तीन सौ रियासत मे से एक छल, जाहि पर ओ राजा सभ शासन केलक जे मात्र राजकुल मे जन्म लै के कारण आर अंग्रेजों क सहायता सँ सिंहासन पर विराजमान भेल।

                                     

ⓘ महात्मा गान्धी

मोहनदास करमचन्द गान्धी भारत तथा भारतीय स्वतन्त्रता आन्दोलनक एक मुख्य राजनीतिक आ आध्यात्मिक नेता छल। ओ विश्वक महापुरूषसभमेसँ एक छल। बेलायती सरकारक उपनिवेशकेँ रूपमे रहल दक्षिण अफ्रिकाक रङ्गभेद अन्त्य करवाक लेल आ भारतक स्वतन्त्र करवाक लेल गान्धीकेँ बहुत पैग योगदान अछि। अहिंसावादी नेता महात्मा गान्धीक सम्मानमे हुनकर जन्मदिवस २ अक्टुबरकेँ संयुक्त राष्ट्र संघ विश्व अहिंसा दिवसक रूपमे मनबैत अछि। ओ सत्याग्रह कऽ अग्रणी नेता छल, हुनकर ई अवधारणाकेँ अहिंसात्मक आन्दोलन कहल गेल अछि। महात्मा गान्धी भारतक स्वतन्त्रता दिलाए जनताकेँ नागरिक अधिकारसभ तथा स्वतन्त्रता आन्दोलनक लेल सम्पूर्ण विश्वकेँ प्रेरित केनए अछि। हुनका लोकसभ महात्मा गान्धी कऽ नामसँ जनैत अछि।

                                     

1. प्रारम्भिक जीवन

मोहनदास करमचन्द गान्धीके जन्म २ अक्टोबर १८६९मे पश्चिमी भारतके हाल गुजरातमे रहल पोरबन्दर नामकs एक तटीय सहरमे भेल छेल । ऊनकर पिताके नाम करमचन्द गान्धी और माँ के नाम पुत्लीबाई गान्धी छेल ।

                                     
  • कस त रब ग न ध - ई. मह त म ग न ध क धर मपत न छ ज भ रतम ब कऽ न मस प रस द ध अछ कस त रब ग ध क जन म अप र ल सन म मह त म ग न ध ज न
  • करमचन द ग न ध उप ख य मह त म ग न ध कऽ हत य क न छल क य क भ रत कऽ व भ जन आ ओ समय भ ल स म प रद य क ह स म ल ख ह न द ओ कऽ हत य कऽ ल ल ल गब ग ग न ध कऽ
  • Mandir मह त म ग न ध क श व द य प ठ व र णस क प र ङ गणम स थ त अछ एकर न र म ण ड क टर श व प रस द ग प त द व र कएल ग ल आ उदघ टन सन म मह त म ग न ध द व र
  • क न य स ग प र, अफ र क अस ट र ल य म ख य अछ भ रतक र ष ट रप त मह त म ग न ध एव ल ख ड प र ष सरद र वल लभ भ ई पट लक म त भ ष ग जर त छल ग जर त
  • एक भ रत य अङ ग र ज भ ष क द न क सम च र पत र छ जकर उद घ टन म मह त म ग न ध द व र कएल ग ल छल ई सम च र पत र भ रत य स वतन त रत आन द लनम एक र ष ट रव द
  • ग न ध जयन त भ रतम मह त म ग न ध क जयन त क मन ब क ल ल मन ओल ज इवल एक क र यक रम छ ई अक ट बर कऽ प रत वर ष मन ओल ज एत अछ आ ई भ रतक त नट र ष ट र य
  • व यक त क औसत च र त र क द ढत आ व यक त क क षमत पर न र भर कर त अछ मह त म ग न ध उनक अपन र जन त क ग र म न त छल ग प लक ष ण ग खल क जन म रत न ग र
  • करमचन द उत तमचन द ग ध - भ रत क र ष ट रप त मह त म ग ध क प त छल व प रबन दर र य सत म प रध नम त र र जस थ न क क र ट क सभ सद, र जक ट
  • स वतन त रत सङ घर षक समयम अहमद ब द प रम ख आध र श व र रहल छल य ह शहरम मह त म ग न ध स बरमत आश रमक स थ पन क नए छल आ भ रत य स वतन त रत सङ घर षम ज ड ल
  • अफ र क - अम र क न गर क अध क रक ल ल सङ घर षक प रम ख न त छ ह नक अम र क क ग न ध स ह कहल ज एत अछ ड क ङ स य क त र ज य अम र क म न ग र सम द य उपर ह मएवल
  • ग न ध व द व च रक एक न क य छ ज मह त म ग न ध क प र रण द ष ट आ ज वन क र यक वर णन कर त अछ ई व श ष र पस अह सक प रत र धक व च रम ह नकर य गद न स ज ड ल
                                     

गान्धीगिरी

गान्धीगिरी भारतमे एक नवशास्त्रवाद छी जकर उपयोग समकालीनतामे गान्धीवाद कऽ व्यक्त करबाक लेल कएल जाएत छल। सन् २००६ मे बनल हिन्दी चलचित्र लगे रहो मुन्ना भाई मे उपयोगक कारण ई शब्द लोकप्रिय भऽ गेल।